पिंजौर/पंचकूला, 8 सितंबर- जिला प्रशासन की ओर से खंड पिंजौर के गांव मढावाला व कोना में ग्राम स्तर पर आपदा प्रबंधन कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें गांव चौकी मढावाला, कोना व नानकपुर के पंचायत सदस्यों, आंगनवॉडी वर्कर, पटवारी, नंबरदार, पूर्व कर्मचारी, स्कूल शिक्षकों सहित ग्रामीण लोगों व छात्राओं ने भाग लिया।
आपदा प्रबंधन विभाग की रिसर्च अधिकारी प्रियंका शर्मा ने कार्यक्रम में ग्राम स्तर पर आपदा प्रबंधन योजना गठित करने पर जोर देते हुए कहा कि ग्राम स्तर पर आपातकालीन टीम गठित की जाए। उन्होंने विभिन्न आपदाओं के आने से पहले व आपदा के दौरान बरतने वाली सावधानियों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने ग्रामवासियों से कहा कि वे अपने घर की आपदा प्रबंधन योजना बनाने के साथ साथ आपातकालीन बैग भी बनाए, जिसे किसी आपदा के समय प्रयोग किया जा सके। उन्होंने बताया कि पंचकूला जिला भूकंप जोन चार में आता है। इसलिए सभी लोगों को एहतियात बरतने की जरूरत है, जिससे आपदा/भूकंप से होने वाली जान माल की हानि को कम किया जा सके।
रेडक्रॉस के जिला प्रशिक्षण अधिकारी रमेश चौधरी ने उपस्थित लोगों को प्राथमिक चिकित्सा की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ग्राम स्तरीय आपदा प्रबंधन के लिए जिला के 25 गांव चुने गए है, जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में है और पंचकूला जिला भूकंप जोन में है। ग्राम स्तर पर प्रत्येक गांव में चुने गए टीम के सदस्यों को आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।